इक्षवाकु वंश में सगर के पुत्र अंशमन हुए जिनके पुत्र अंशुमान थे जिन्होंने अपने पूर्वजो की मुक्ति के लिए तपस्या करते हुए प्राण त्याग दिए। अंशुमान के पुत्र दिलीप हुए और उनके पुत्र भगीरथ ने गंगा को धरती पर लाकर अपने पूर्वजो को मुक्ति दिलाई।

राजा अंशुमान बुढ़ी औरत के साथ

सन्दर्भसंपादित करें