मुख्य मेनू खोलें

अचानक (1973 फ़िल्म)

हिन्दी भाषा में प्रदर्शित चलवित्र

अचानक 1973 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है।

अचानक
चित्र:अचानक.jpg
अचानक का पोस्टर
निर्देशक सम्पूरन सिंह गुलज़ार
अभिनेता विनोद खन्ना,
ओम शिवपुरी,
लिली चक्रवर्ती,
फरीदा ज़लाल,
इफ़्तेख़ार,
कमलदीप,
बेबी पिंकी,
विजय शर्मा,
असरानी,
कैस्टो मुखर्जी,
प्रदर्शन तिथि(याँ) [[]], 1973
देश भारत
भाषा हिन्दी

“अचानक” गुलजार द्वारा निर्देशित एक थ्रिलर फिल्म है। अचानक एक सीधा सपाट क्राइम थ्रिलर नहीं है बल्कि इस फिल्म में एक साथ कई फिल्में बसती हैं। फिल्म का एक हिस्सा है जहाँ फौजी ट्रेनिंग पाते नायक (विनोद खन्ना) के क्रियाकलापों द्वारा कामेडी और रोमांस फिल्म में नजर आता है।

फिल्म का एक अन्य हिस्सा पचास के दशक के अंत में हुये बहुचर्चित या कुख्यात हत्याकांड, जिसमें एक नेवी ऑफीसर कवस एम नानावटी, उनकी विदेशी पत्नी सिल्विया और उसके भारतीय प्रेमी प्रेम आहुजा का त्रिकोण शामिल था, से प्रेरित है। अचानक का नायक भी उस केस की तरह अपनी पत्नी को अपने ही जिगरी दोस्त के साथ प्रेम लीला रचाते हुये देखकर प्रेमी को मार डालता है। पर उस केस से अलग अपनी पत्नी से बेहद प्रेम करने वाला फौजी अफसर अपनी पत्नी को भी मार डालता है। अचानक एक अस्पताल में जा पहुँचती है

एक थ्रिलर के तौर पर फिल्म के कथानक में कुछ कमियाँ हैं पर दृष्यों के निर्माण और उनके प्रस्तुतीकरण में अच्छी कसावट है और उनके प्रस्तुतीकरण में कमी नहीं दिखती। अचानक एक अस्पताल में भी जा पहुँचती है जहाँ घायल नायक को मौत के मँह में से निकाल लाने की जिम्मेदारी डाक्टर्स पर आ पड़ती है और वे उसे बचा भी लेते हैं परन्तु मौत की सजा पाये नायक को कानून फिर से अपनी कैद में जकड़ लेता है और फिल्म मौत की सजा के ऊपर भी सवाल उठाती है।

कुछ कमियों के बावजूद अचानक हिन्दी सिनेमा के ऐसे चुनींदा थ्रिलर्स में आता है जिन्हे कुछ समय के अंतराल के बाद पुन: देखा जा सकता है।

संक्षेपसंपादित करें

चरित्रसंपादित करें

मुख्य कलाकारसंपादित करें

दलसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

रोचक तथ्यसंपादित करें

परिणामसंपादित करें

बौक्स ऑफिससंपादित करें

समीक्षाएँसंपादित करें

नामांकन और पुरस्कारसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें