अनवीकरणीय संसाधन (Non-renewable resource) वे संसाधन होते हैं, जिनके भण्डार में प्राकृतिक प्रक्रियाओं द्वारा पुनर्स्थापन नहीं होता रहता है। यह संसाधन मानवीय क्रियाओं द्वारा समाप्त हो जाते हैं तथा पुनः निर्माण होने में करोड़ों वर्ष की अवधि लेते हैं। इसका उदाहरण कोयला, पेट्रोलियम तथा प्राकृतिक गैस आदि हैं।

खनिज एवं अयस्कसंपादित करें

 
कच्चे सोने का अयस्क, जिसे बाद में सोने धातु बनाया जाता है।

पृथ्वी में पाये जाने वाले खनिज और अयस्क इस तरह के संसाधनों के उदाहरण हैं। इन्हें बनने में करोड़ों वर्ष की अवधि, अत्यधिक दबाव और उच्च तापमान की आवश्यकता होती है। इसके अलावा भी इन्हें कई अलग अलग प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ता है। इसके बाद ही इनका मानव द्वारा उपयोग किया जा सकता है। चूंकि मानव द्वारा ऐसी स्थिति बना पाना संभव नहीं, इस कारण ऐसे संसाधनों को दोबारा प्राप्त नहीं किया जा सकता है।

सन्दर्भसंपादित करें