अनुप्रस्थ तरंग उस तरंग को कहते हैं जिसके दोलन[माध्यम के कण] तरंग संचरण की दिशा के लम्बवत होते हैं।[1]विद्युतचुम्बकीय तरंगें अनुप्रस्थ तरंगे होतीं हैं।

अनुप्रस्थ तरंग

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 10 जून 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 10 जून 2015.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें