मुख्य मेनू खोलें

लक्षण जो पीढ़ी-दर-पीढ़ी संचरित होते हैं अनुवांशिक लक्षण कहलाते हैं। संचरण की विधियों और कारणों के अध्ययन को जेनेटिक कहते हैं इसकी जानकारी सर्वप्रथम Austria निवासी जोहान मैडम ने दी इसीलिए उन्हें अनुवांशिकता का जनक भी कहा जाता है।