इलेक्ट्रॉन को प्राप्त हुआ है सूक्ष्म नियत वेग जो मुक्त इलेक्ट्रॉन को तार की लंबाई के अनुदिश उच्च विभव वाले सिरे की ओर गति के लिए प्रेरित करता है, अनुगमन वेग (ड्रिफ्ट वेलॉसिटी) कहलाता है।

विद्युत धारा का मान अपवाह वेग के समानुपाती होता है। प्रतिरोधी पदार्थों में अपवाह वेग, आरोपित वाह्य विद्युत क्षेत्र के समानुपाती होता है। अतः [[ओम का नियम|ओम के नियम को अपवाह वेग के रूप में भी अभिव्यक्त कर सकते हैं।

ओम के नियम का सबसे आधारभूत रूप यह है-

जहाँ 'Vd'वेग है, μ पदार्थ में इलेक्ट्रॉन की गतिशीलता (mobility) है (ईकाई m2/(V⋅s)) तथा E विद्युत क्षेत्र है(V/m में)।