मुख्य मेनू खोलें

अफगानिस्तान एक इस्लामी गणराज्य है 99% जहाँ के नागरिक इस्लाम के अनुयायी हैं। 80% आबादी सुन्नी इस्लाम का पालन करती है। शेष शिया हैं। मुसलमानों के अलावा, सिखों और हिंदुओं के छोटे अल्पसंख्यक समुदाय भी हैं।[1][2][3]

इतिहाससंपादित करें

माना जाता है कि पारसी धर्म का जन्म 1800 से 800 ईसा पूर्व के बीच अफगानिस्तान में हुआ है, क्योंकि इसके संस्थापक ज़रथुष्ट्र बल्ख़ में रहे और यहीं उनकी मृत्यु हो गई थी, जबकि उस समय क्षेत्र को एरियाना के रूप में जाना जाता था। पारसी धर्म के उदय के समय इस क्षेत्र में प्राचीन पूर्वी ईरानी भाषाएँ बोली जाती थीं। 6 वीं शताब्दी ईसा पूर्व के मध्य तक, अक्मेनिड्स ने मेदों को खत्म कर दिया और अपनी पूर्वी सीमाओं के भीतर अरकोसिया, एरिया और बैक्ट्रिया को शामिल किया। फारस के दारायस प्रथम के मकबरे पर एक शिलालेख में 29 राज्यों की एक सूची में काबुल घाटी का उल्लेख किया है जिस पर उन्होंने विजय प्राप्त की थी।[4][5]

अफगानिस्तान के शियासंपादित करें

शिया अफगानिस्तान की कुल आबादी के 7% से 20% के बीच बनते हैं। ये लोग सुन्नी बहुसंख्यकों के बीच एक छोटी अल्पसंख्यक समुदाय हैं|[6][7]

ईसाई धर्म, कैथोलिक चर्च और अफगानिस्तान में प्रोटेस्टेंटिज्मसंपादित करें

कुछ पुष्टिकृत रिपोर्ट बताते हैं कि 500 से 8,000 देश में गुप्त रूप से ईसाई धर्म के विश्वास का के अनुयायी हैं। एक अध्ययन में देश में रहने वाले एक मुस्लिम पृष्ठभूमि में ईसाई धर्म के मानने वालों की संख्या 3,300 के लगभग अनुमान लगाई गई है।[8]

हिंदू धर्मसंपादित करें

अफगानिस्तान में हिन्दू धर्म  का अनुसरण करने वाले बहुत कम लोग हैं। इनकी संख्या कोई 1,000 अनुमानित है। ये लोग अधिकतर काबुल एवं अफगानिस्तान के अन्य प्रमुख नगरों में रहते हैं।[9][10][11][12] अफगानिस्थान पर इस्लामीयों की विजय से पूर्व अफगानिस्तान की जनता बहु-धार्मिक थी। यहाँ बहुसंख्यक या तो बौध थे या हिन्दू [13] । 11 वीं सदी में अधिकांश हिन्दू मंदिरों को नष्ट कर दिया गया या मस्जिदों में परिवर्तित कर दिया गया। हिंदू धर्म का वहाँ आरम्भ कब हुआ इसकी कोई विश्वसनीय जानकारी नहीं है, परन्तु इतिहासकारों का मन्तव्य है कि, प्राचीन काल में दक्षिण हिन्दू कुश का क्षेत्र सांस्कृतिक रूप से सिंधु घाटी सभ्यता के साथ जुड़ा था।

प्रमुख अफ़गान लोग जो भारत आकर बस गए हैंसंपादित करें

संदर्भसंपादित करें

  1. "Chapter 1: Religious Affiliation". The World's Muslims: Unity and Diversity. Pew Research Center's Religion & Public Life Project. August 9, 2012. अभिगमन तिथि 4 September 2013.
  2. "Country Profile: Afghanistan" (PDF). Library of Congress Country Studies on Afghanistan. Library of Congress. August 2005. मूल (PDF) से 2014-04-08 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-09-03. Religion: Virtually the entire population is Muslim. Between 80 and 85 percent of Muslims are Sunni and 15 to 19 percent, Shia.
  3. "Afghanistan". Central Intelligence Agency (CIA). The World Factbook. मूल से 2014-04-08 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-09-03. Religions: Sunni Muslim 80%, Shia Muslim 19%, other 1%
  4. Bryant, Edwin F. (2001) The quest for the origins of Vedic culture: the Indo-Aryan migration debate Oxford University Press, ISBN 978-0-19-513777-4.
  5. Afghanistan: ancient Ariana (1950), Information Bureau, p3.
  6. 1911 Encyclopædia Britannica - Hazara (Race)
  7. "HAZĀRA". Encyclopædia Iranica (Online)। संपादक: Ehsan Yarshater। United States: Columbia University। अभिगमन तिथि: 2007-12-23
  8. USSD Bureau of Democracy, Human Rights, and Labor (2009). "International Religious Freedom Report 2009". अभिगमन तिथि 2010-03-06.
  9. Sikhs struggle for recognition in the Islamic republic, by Tony Cross.
  10. Minority Hindu and Sikh population shrinking in Afghanistan:US
  11. Legal traditions of the world: sustainable diversity in law, H. Patrick Glenn Edition 3, Oxford University Press, 2007
  12. "Dark days continue for Sikhs and Hindus in Afghanistan".
  13. Al-Hind, the Making of the Indo-Islamic World: Early medieval India and the expansion of Islam, 7th-11th centuries, Volume 1 of Al-Hind, the Making of the Indo-Islamic World, André Wink, ISBN 90-04-09509-8, Publisher BRILL, 1990.