अफ़ग़ानिस्तान इस्लामिक अमीरात

अफगानिस्तान इस्लामी अमीरात (अंग्रेजी: The Islamic Emirate of Afghanistan, पश्तो: د افغانستان اسلامي امارت‎, दरी: امارت اسلامی افغانستان‎) एक अ-मान्यता प्राप्त इस्लामी राज्य है। जिसे प्रथम बार सितम्बर 1996 में तालिबान द्वारा स्थापित किया गया था, जो एक देवबन्दी इस्लामी आतंकवादी संगठन है जिसने पहली बार काबुल के 1996 के पतन के बाद अफगानिस्तान पर अपना शासन आरम्भ किया था। यह संगठन वर्ष 2001 तक सत्ता में रहा, तत्पश्चात संयुक्त राज्य अमेरिका के नेतृत्व वाले सैन्य गठबन्धन ने इस सरकार को गिरा दिया। 20 वर्षों के पश्चात तालिबान ने सत्ता में वापसी की और काबुल के 2021 के पतन के बाद इस्लामी अमीरात को पुनः स्थापित करने की घोषणा की और तब से देश के अधिकांश हिस्सों पर उसका वास्तविक नियन्त्रण है।[1][2]

यह भी देखिएसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "घोषणा: तालिबान ने किया अफगानिस्तान के इस्लामिक अमीरात के गठन का एलान, कहा- ये देश नहीं बनेगा लोकतंत्र". अमर उजाला. अभिगमन तिथि 21 अगस्त 2021.
  2. "घोषणा: तालिबान ने किया अफगानिस्तान के इस्लामिक अमीरात के गठन का एलान, कहा- ये देश नहीं बनेगा लोकतंत्र". टीवी 9. अभिगमन तिथि 21 अगस्त 2021.