अम्ब्रिअल अरुण (युरेनस) ग्रह का एक उपग्रह है। अकार में यह अरुण का तीसरा सब से बड़ा उपग्रह है। अम्ब्रिअल का रंग अरुण के सारे उपग्रहों में से सब से गाढ़ा है। अरुण के अन्य बड़े चंद्रमाओं की तरह, अम्ब्रिअल भी बर्फ़ और पत्थर का बना हुआ है। इसकी सतह बर्फ़ीली और अन्दर का केंद्रीय भाग पत्थरीला है। इसकी सतह पर अंतरिक्ष से गिरे हुए उल्कापिंडों की वजह से बहुत से बड़े गढ्ढे भी हैं, जिनका व्यास २१० किमी तक पहुँचता है। कुछ टीले और खाइयाँ भी देखी गयी हैं। वॉयेजर द्वितीय यान के १९८६ में अरुण के पास से गुज़रने पर अम्ब्रिअल की सतह के लगभग ४०% हिस्से के नक्शे बनाए जा चुके हैं।

वॉयेजर द्वितीय यान द्वारा १९८६ को ली गयी एक अम्ब्रिअल की तस्वीर

अकारसंपादित करें

अम्ब्रिअल का अकार गोल है। इसका औसत व्यास लगभग ११६९ किमी है, जो ऍरिअल के ११५८ किमी के व्यास से बस थोड़ा सा ही बड़ा है। पृथ्वी के चन्द्रमा का व्यास लगभग ३,४७४ किमी है, यानि की अम्ब्रिअल का अकार हमारे चन्द्रमा का लगभग एक-तिहाई है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें