मुख्य मेनू खोलें

अरिसेन आहूबूडु (सिंहली भाषा: කලාසූරි අරිසෙන් අහුබුදු, 1920–2011) श्रीलंका के मैलेगा, कोग्गला, मुड़ियाल्लागहवट्टा में पैदा हुए एक श्रीलंकाई लेखक, वक्ता, विद्वान, नाटककार तथा सिंहली गीतकार, लेखक और कवि थे। उन्होने अपने जीवन में अपनी साहित्यिक कृतियों के लिए कलाश्री नामक तीन सरकारी पुरस्कार तथा सर्वश्रेष्ठ संगीतकार के लिए सरसवाईया फिल्म पुरस्कार प्राप्त किए। उनकी मृत्यु 26 मई 2011 को हुई।[1]

अरिसेन आहूबूडु
जन्म 18 मार्च 1920
श्रीलंका
मृत्यु 26 मई 2011(2011-05-26) (उम्र 91)
कोलंबो, श्रीलंका
राष्ट्रीयता श्रीलंका श्रीलंकाई
अन्य नाम एरियासेना एसुबोडा
व्यवसाय लेखक, वक्ता, विद्वान, नाटककार, सिंहल में गीतकार, लेखक और कवि श्रीलंका
धार्मिक मान्यता बौद्ध
वेबसाइट
www.ahubudu.com

अनुक्रम

प्रमुख साहित्यिक कृतियाँसंपादित करें

  • हेला डेराना वागा
  • कोग्गाला पवाता
  • मंगला किंकिनी
  • दम रासा देहरा
  • ए-सम्मात्या राजा विमा
  • अरिसेन आहूबूडु हरसरनिया
  • सकविटी रवणा
  • लंका गम नाम वहरा
  • अटू आगा दिली वना मल
  • इरा हांडा नेगी राता[2]
  • मनु वासा[3]

करियरसंपादित करें

  • 1979 - उन्होंने सिंहली शब्दकोश कार्यालय में सिंहली शब्दकोश के संपादक के रूप में काम किया। उन्होंने इस पद पर 5 वर्षों तक सेवा की।
  • 1979 - उन्होने महावंश्य के द्वितीय सिंहल संस्करण का संपादक किया।
  • 1985 - राष्ट्रपति भाषा सलाहकार।
  • 1989 - बांग्लादेश में आयोजित एशियाई कवि सम्मेलन के लिए श्रीलंका प्रतिनिधि।

सम्मान/पुरस्कारसंपादित करें

  • 1962 राज्य साहित्य सम्मान परेविया सामा आसना के लिए
  • 1969 वर्ष के सर्वश्रेष्ठ कवि रासा दहारा के लिए
  • 1980 सर्वश्रेष्ठ गीत के लिए सरासव्य सम्मान
  • 1984 कला श्री सम्मान - श्रीलंका में एक उल्लेखनीय गीतकार के रूप में
  • 1985 हेला उरुमाया के द्वारा कीविसुरु पुरस्कार
  • 1988 प्रथम श्रेणी कला श्री सम्मान
  • 1990 हेला बस मिनी सम्मान

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Death of a scholar (एक विद्वान की मौत).
  2. "The S. Thomas' College Old Boys' Forum" [एस 'थॉमस कॉलेज के पुराने लड़कों का फोरम].
  3. "Sarasavi, The bookshop" [सरसवी, पुस्तक की दुकान].

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें