अल-वालिद इब्न अल-मालिक; या अल-वालिद प्रथम: Al-Walid ibn Abd al-Malik‏ or Al-Walid I, (668 – 23 फरवरी 715) एक उमय्यद, खलीफा थे जिन्होने 705 से 715 अपनी मृत्यु तक शासन किया इनके शासनकाल में सबसे बड़ा विस्तार देखा गया जो सफल सैन्य अभियानो के रूप में था। केंद्रीय एशिया, सिंध, पश्चिमी यूरोप में हिस्पैनिया और बिजान्टिन साम्राज्य के विरूद्ध ट्रोसऑक्सियाना में अभियान किए गये थे।

अल-वालिद इब्न अब्द अल-मालिक
Al-Walid ibn Abd al-Malik
الوليد بن عبد الملك
चित्र:درهم ولید ابن عبدالملک از ایالت سجستان (سیستان.jpg
अल वालिद, के सिक्के जो सिस्तान में पाए गये.
उमय्यद खिलाफत के ख़लीफ़ा
शासनावधि8 अक्टूबर 705 – 23 फरवरी 715
पूर्ववर्तीअब्द अल-मालिक मरवान
उत्तरवर्तीसुलेमान इब्न अब्द अल-मलिक
जन्म668
निधन23 फरवरी 715 (आयु 47)
संतानअब्द अल-अजीज, यज़ीद तृतीय, इब्राहिम, अल-अब्बास
पूरा नाम
अल-वालिद इब्न अब्द अल-मालिक अरबी: الوليد بن عبد الملك
घरानाबनू अब्द शाम्स
राजवंशउमय्यद
पिताअब्द अल-मालिक इब्न मरवान
मातावालिदा बिन्त अल-अब्बास[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Dr. Eli Munif Shahla, "Al-Ayam al-Akhira fi Hayat al-Kulafa", Dar al-Kitab al-Arabi, 1st ed., 1998, p. 236