मुख्य मेनू खोलें

मुस्लिम अरब सेना खालिद इब्न अल- वालिद की कमान के अधीन थी और अल अनबर की लड़ाई इराक के प्राचीन शहर बाबुल में हुआ थी। खालिद इब्न अल वालिद ने शहर के किले में सैसोनियन फारसियों को घेर लिया, जिसकी मजबूत दीवार थी घेराबंदी में कई मुस्लिम धनुर्धारियों का इस्तेमाल किया गया। फ़ारसी गवर्नर, शिरजाद ने अंततः आत्मसमर्पण कर दिया और मुस्लिम सेना को प्रवेश होने की अनुमति दी। अल-अनबर की लड़ाई को अक्सर "आंख की कार्रवाई" के रूप में याद किया जाता है क्योंकि लड़ाई में प्रयुक्त मुस्लिम धनुर्धारियों को फ़ारसी गराज के "आंखों" के उद्देश्य से बताया गया था।

अल अनबर की लड़ाई
Battle of Al-Anbar
फारस में मुस्लिम विजय अभियान
खालिद इब्न अल वालिद के सैन्य अभियान का भाग
Mohammad adil rais-Khalid's conquest of Iraq.png
तिथि 633 ईस्वी
स्थान इराक
परिणाम मुस्लिम विजय
योद्धा
रशीदुन खिलाफत फारसी साम्राज्य
सेनानायक
खालिद इब्न अल वालिद शिरज़ाद[1]
शक्ति/क्षमता
9,000 अज्ञात
मृत्यु एवं हानि
कुछ ही कुछ ही

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Annals of the Early Caliphate By William Muir, pg 85