अविवाहित किसी भी पुरुष अथवा महिला के जीवन की वह स्थिति होती है जब तक उसका विवाह नहीं हुआ होता। वह विवाह सामाजिक अथवा कानूनी कोई भी हो सकता है। वैसे वर्तमान नियमानुसार भारत में हर विवाहित पुरुष और स्त्री के पास विवाह के पंजीकरण के तौर पर प्रमाण पत्र होना आवश्यक है। कुछ लोग जीवन भर अविवाहित रहते हैं। उनके जीवन का उद्देश्य होता है किसी विशेष कार्य के लिये स्वयं को पूर्णत: समर्पित कर देना।