आओ भाषाएँ (Ao languages) पूर्वोत्तर भारत के नागालैण्ड राज्य के उत्तर-मध्य भाग में आओ समुदाय द्वारा बोली जाने वाली भाषाओं का एक समूह है। यह तिब्बती-बर्मी भाषा परिवार की एक शाखा है लेकिन उस विशाल भाषा-परिवार के अंतर्गत इसका आगे का श्रेणीकरण अभी अज्ञात है।[1][2]

आओ
जातियाँ: आओ नागा
भौगोलिक
विस्तार:
नागालैण्ड, भारत
भाषा श्रेणीकरण: चीनी-तिब्बती
उपश्रेणियाँ:
Nagaland in India.png
भारत के पूर्वोत्तर में नागालैण्ड

आओ भाषाएँसंपादित करें

वर्तमानकाल में छह ज्ञात आओ भाषाएँ हैं:

  • चोंगली आओ
  • मोंगसेन आओ
  • संगताम (थुकुमी)
  • यिमचुंगरु (याचुमी)
  • लोथा (ल्होता)

इनमें से चोंगली सर्वाधिक प्रचलित है और सभी आओ के बीच में बोलचाल के लिये प्रयोगित है। इसके विपरीत मोंगसेन की सबसे विस्तृत लोक-गीत विरासत है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. George van Driem (2001) Languages of the Himalayas: An Ethnolinguistic Handbook of the Greater Himalayan Region. Brill.
  2. Nordhoff, Sebastian; Hammarström, Harald; Forkel, Robert; Haspelmath, Martin, eds. (2013). "Aoic Archived 3 मार्च 2016 at the वेबैक मशीन.". Glottolog. Leipzig: Max Planck Institute for Evolutionary Anthropology.