भौतिकी में, एक तरल पदार्थ जिसमें अपरूपण प्रतिबल का कोई प्रतिरोध नहीं होता है, उसे एक आदर्श या गैर-श्यान तरल पदार्थ के रूप में जाना जाता है।

आदर्श तरल पदार्थ असम्पीड्य होता है, जिसका अर्थ है कि घनत्व स्थिर है।

आदर्श तरल पदार्थ अघूर्णी होता है, जिसका अर्थ है कि प्रवाह सुचारू होता है, और इसमें कोई विक्षोभ नहीं होता है।

आदर्श तरल पदार्थ गैर-श्यान भी होता है, जिसका अर्थ है कि इसमें कोई घर्षण नहीं होता है।

तरल दाब -किसी बर्तन मे रखे तरल द्वारा बर्तन की दीवार के प्रति एकांत छेत्रफल पर आरोपित बल को तरल दाब कहते है |

इन्हें भी देखेंसंपादित करें