आधार और अधिरचना (Base and Superstructure) ऐतिहासिक भौतिकवाद (Historical Materialism) के प्रवर्ग, जो प्रत्येक सामाजिक-आर्थिक ढाँचे के आधारभूत संरचनात्मक तत्त्वों को अभिलक्षित करने के लिए तैयार किये गये, हेतु व्यवहृत पद है। इन प्रवर्गों की सहायता से समाज पर लागू होने वाले दर्शन के आधारभूत प्रश्न को ठोस रूप दे दिया जाता है। मार्क्सवाद-लेनिनवाद सिद्ध करता है कि प्रत्येक समाज में प्रचलित विचारों, संस्थाओं तथा संगठनों की नींव में आधार अर्थात उत्पादन शक्तियों के अनुरूप विकसित होने वाले उत्पादन संबंध अंतर्निहित होते हैं। अधिरचना (ऊपरी ढाँचे) उन सामाजिक परिघटनाओं की अन्तःसंबंध प्रणाली है जिन्हें आर्थिक आधार जन्म देता है और जो इस आधार पर सक्रिय प्रभाव डालती हैं।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. दर्शनकोश, प्रगति प्रकाशन, मास्को, १९८0, पृष्ठ-७१, ISBN: ५-0१000९0७-२