मुख्य मेनू खोलें

वर्तमान अर्थनीतिक परिप्रेक्ष्य में आर्थिक साम्राज्यवाद (Economic imperialism) से आशय आर्थिक सिद्धान्तों को सामाजिक विज्ञान के अन्य सम्बन्धित क्षेत्रों में भी लागू करने का क्रमबद्ध प्रयत्न करना है। इस तरह के प्रयत्न के परिणामस्वरूप कई नई विधाओं (disciplines) का जन्म हुआ।