आर्यभट्ट से निम्नलिखित का बोध होता है-