आर्सेलर मित्तल एक वैश्विक इस्पात कंपनी है जिसका मुख्यालय एवेन्यू डी ला लिबेर्टॅ, लक्ज़मबर्ग में स्थित है। यह विश्व में सबसे बड़ी इस्पात उत्पादक कंपनी है[2] और मोटरवाहन, निर्माण, घरेलू उपकरणों और पैकेजिंग में उपयोग के लिए इस्पात में अग्रणी है। यह कच्चे माल की आपूर्ति के लिये विस्तृत आपूर्ति व्यवस्था और व्यापक वितरण नेटवर्क संचालित करती है। कंपनी की स्थापना २००६ में आर्सेलर और मित्तल इस्पात के विलयन से हुआ था। यह २०१० के फॉर्च्यून ग्लोबल ५०० की सूची में ९९ स्थान पर है

आर्सेलर मित्तल
प्रकार Société Anonyme (यूरोनेक्स्ट : MT, NYSEMT, BMADMTS, LuxSEMT)
उद्योग इस्पात
स्थापना २००६
मुख्यालय एवेन्यू डी ला लिबेर्टॅ, लक्ज़मबर्ग
क्षेत्र वैश्विक
प्रमुख व्यक्ति लक्ष्मी मित्तल (अध्यक्ष and मुख्य कार्यकारी अधिकारी)
आदित्य मित्तल (मुख्य वित्तीय अधिकारी)
उत्पाद इस्पात, फ्लैट इस्पात, दीर्घ इस्पात, ज़ंगरोधी इस्पात, तार
राजस्व US$६५.११ अरब (२००९)[1]
प्रचालन आय US$$१.६७८ अरब (२००९)[1]
लाभ US$११८ करोड (२००९)[1]
कुल संपत्ति US$१२७.७ अरब (२००९)[1]
कुल इक्विटी US$६५.४ अरब (२००९)[1]
कर्मचारी २८१,७०० (२००९)[1]
वेबसाइट www.arcelormittal.com

इतिहाससंपादित करें

इसकी यूरोप, एशिया, अफ्रीका और अमेरिका में औद्योगिक उपस्थिति सभी प्रमुख इस्पात बाजार, परिपक्व से लेकर उभरते हुये तक में लाभ पहुँचाता है। आर्सेलर मित्तल उच्च वृद्धिदर वाले भारतीय और चीनी बाजारों में अपनी स्थिति को विकसित कर रही है।

आर्सेलर मित्तल के २००७ के महत्वपूर्ण वित्तीय आँकड़े प्रकाशित करते हैं कि कंपनी का राजस्व 105.2 अरब डॉलर था तथा 11.6 करोड कच्चे इस्पात का उत्पादन हुआ जो वैश्विक इस्पात उत्पादन का लगभग १० फिसदी है। आर्सेलर मित्तल न्यूयॉर्क, एम्स्टर्डम, पेरिस, ब्रुसेल्स, लक्ज़मबर्ग के शेयर बाजारों में और बार्सिलोना, बिलबाओ, मैड्रिड और वालेंसिया[3] स्पेनिश शेयर बाजारों में सूचीबद्ध है। दिसंबर २००८ में, आर्सेलर मित्तल ने लैकवाना न्यूयॉर्क के पूर्व बेतलेहेम इस्पात संयंत्र, एल टी वी इस्पात (हेनेपिन) सहित कई इस्पात संयंत्र बंद करने की घोषणा की है।

यूरोपीय आयोग ने ३० जून २०१० में १७ इस्पात उत्पादकों पर अवैध मूल्य प्रतिष्ठापन के लिये 51.8 करोड यूरो का जुर्माना किया जिसमे सबसे ज्यादा हानि आर्सेलर मित्तल को हुयी।

संगठनात्मक संरचनासंपादित करें

लक्ष्मी मित्तल (मित्तल स्टील के मालिक) अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी है। आर्सेलर मित्तल समूह के प्रबंधन बोर्ड की संरचना इस प्रकार है : लक्ष्मी मित्तल एन (अध्यक्ष और सीईओ), आदित्य मित्तल (सीएफओ), मिशेल वुर्थ, गोंजालो उरकुइजो, क्रिस्टोफर कोर्निएर, सुधीर माहेश्वरी, दविंदर चुग और पीटर कुइएल्स्की है।

आर्सेलर मित्तल का ११ सदस्यीय बोर्ड कंपनी के समग्र पर्यवेक्षण के लिए जिम्मेदार है। निदेशक मंडल की संरचना २५ जून २००६ के समझौता ज्ञापन के सिद्धांतों को को दर्शाता है।

प्रमुख कार्यालयसंपादित करें

आर्सेलर मित्तल का मुख्य कार्यालय लक्ज़मबर्ग शहर में है और 600 कर्मचारियों वहाँ काम करते हैं।.[4]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Annual Report 2009" (PDF). ArcelorMittal. अभिगमन तिथि 2010-03-12.[मृत कड़ियाँ]
  2. "Fortune Global 500 2010: The World's Biggest Companies - ArcelorMittal - MT". Fortune. मूल से 25 जुलाई 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 जुलाई 2010.
  3. "ArcelorMittal: Products & Services, Steel Services Centres (www.arcelormittal.com)". मूल से 19 जुलाई 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2008-09-30.
  4. "Arcelor-Mittal : un siège au Luxembourg Archived 28 सितंबर 2011 at the वेबैक मशीन.." Le Journal du Net. Retrieved on 7 जुलाई 2010.

बाहरी कड़ियांसंपादित करें