इंग्लैण्ड पर नॉर्मन विजय

इंग्लैंड की नॉर्मन विजय 11 वीं शताब्दी का आक्रमण था और नॉर्मन्स, ब्रेटन, फ्लेमिश और अन्य फ्रांसीसी प्रांतों के लोगों से बनी सेना द्वारा इंग्लैंड पर कब्जा कर लिया गया था, जो सभी नॉरमैंडी के ड्यूक द्वारा बाद में विलियम द कोंकुरर के रूप जाने गए।

नॉर्मनों की सेना ने ११वीं शदी में इंग्लैण्ड पर आक्रमण किया और उस पर अधिकार कर लिया। इसमें ब्रेटोन तथा फ्रेंच सैनिक भी शामिल थे। इसका नेतृत्व ड्यूक विलियम द्वितीय ने किया था।

जो युद्ध था उसका असली कारण यह था कि जो ब्लूटोन यानी कि आज वर्तमान का ब्रिटेन और फ्रेंच सैनिक आपस में मिलकर नॉर्वे की सेना पर आक्रमण किया और नॉर्वे की सेना पर आक्रमण करने का कारण था कि नॉर्वे की सेना का सामंतवाद को ना मानना क्योंकि सामंतवाद से पहले वह रोमन साम्राज्य के अधीन थे तो उन्हें उसी चीज की लत पड़ चुकी थी।[कृपया उद्धरण जोड़ें]