नॉर्मनों की सेना ने ११वीं शदी में इंग्लैण्ड पर आक्रमण किया और उस पर अधिकार कर लिया। इसमें ब्रेटोन तथा फ्रेंच सैनिक भी शामिल थे। इसका नेतृत्व ड्यूक विलियम द्वितीय ने किया था।

जो युद्ध था उसका असली कारण यह था कि जो ब्लूटोन यानी कि आज वर्तमान का ब्रिटेन और फ्रेंच सैनिक आपस में मिलकर नॉर्वे की सेना पर आक्रमण किया और नॉर्वे की सेना पर आक्रमण करने का कारण था कि नॉर्वे की सेना का सामंतवाद को ना मानना क्योंकि सामंतवाद से पहले वह रोमन साम्राज्य के अधीन थे तो उन्हें उसी चीज की लत पड़ चुकी थी।[कृपया उद्धरण जोड़ें]