उत्तराखण्ड मण्डल

उत्तराखण्ड मण्डल वर्ष १९६० से १९६८ तक उत्तर प्रदेश राज्य का एक मण्डल था। इस मण्डल का गठन १९६२ के भारत-चीन युद्ध की पृष्ठभूमि में सीमान्त क्षेत्रों के विकास की दृष्टि से २४ फरवरी १९६० को राज्य के तीन सीमान्त जिलों, उत्तरकाशी, चमोलीपिथौरागढ़ को कुमाऊँ मण्डल से निकालकर किया गया था। २० दिसम्बर १९६८ को इस मण्डल को भंग कर दिया गया, और फिर १९६९ में उत्तर प्रदेश के इन पहाड़ी जिलों को फिर से २ मण्डलों में पुनर्व्यवस्थित कर नवीन गढ़वाल मण्डल का गठन किया गया।

उत्तर प्रदेश का तत्कालीन मानचित्र।
उत्तराखण्ड मण्डल में राज्य के तीन उत्तरी जिले: उत्तरकाशी, चमोली तथा पिथौरागढ़ शामिल थे।

सन्दर्भसंपादित करें

  • शरण, परमात्मा (१९७८). पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन इन इंडिया (अंग्रेज़ी में). मेरठ: मीनाक्षी प्रकाशन. पृ॰ २०१. अभिगमन तिथि ६ जून २०१८.