उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय

उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय (अंग्रेजी: Uttar Pradesh University of Medical Sciences) (पूर्व में उत्तर प्रदेश ग्रामीण आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान), सैफई (इटावा) में उत्तर प्रदेश सरकार के विधेयक 15, वर्ष 2016 द्वारा स्थापित एक विश्वविद्यालय है।[1] विश्वविद्यालय के अधीन मेडिकल कॉलेज, स्नातकोत्तर डेन्टल काॅलेज, पैरामैडिकल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज और फार्मेसी कॉलेज चल रहे हैं साथ में 850 बिस्तर वाला मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल, ट्रामा एवं बर्न सेंटर भी कार्यरत है। इसके अतिरिक्त 650 करोड़ के बजट के साथ एक 500 बिस्तरों वाले सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का कार्य भी उत्तर प्रदेश सरकार द्वार प्रारम्भ करा दिया गया है।[2]

उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय
Uttar Pradesh University of Medical Sciences

स्थापित२००५ (उत्तर प्रदेश ग्रामीण आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान के रूप मे)
२०१६(उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के रूप मे)
प्रकार:सार्वजनिक
कुलाधिपति:मुख्यमन्त्री, उत्तर प्रदेश
कुलपति:प्रोफेसर (डाक्टर) प्रभात कुमार सिंह
अवस्थिति:सैफई, जिला इटावा, उत्तर प्रदेश, भारत
(26°57′38″N 78°57′37″E / 26.960694°N 78.960276°E / 26.960694; 78.960276निर्देशांक: 26°57′38″N 78°57′37″E / 26.960694°N 78.960276°E / 26.960694; 78.960276)
पुराने नाम:उत्तर प्रदेश ग्रामीण आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान(२००५ से २०१६ तक)
जालपृष्ठ:www.upums.ac.in/index-hi.aspx

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "रिम्स सैफई बना आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय". अमर उजाला. जून 6, 2016. मूल से 8 अक्तूबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 16 जून 2016.
  2. "रिम्स सैफई बना आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय". Amar Ujala. मूल से 8 अक्तूबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 6 जून 2016.