एडमिरल देवेन्द्र कुमार जोशी(जन्म: 4 जुलाई 1954) भारत के २१वें नौसेनाध्यक्ष थे। वे 31 अगस्त 2012[1] से 26 फ़रवरी 2014[2] तक इस पद रहे। उन्होंने एडमिरल निर्मल वर्मा से यह पदभार ग्रहण किया था तथा उनके त्यागपत्र के पश्चात् वाइस एडमिरल रॉबिन धवन इस पद पर आए।

एडमिरल देवेन्द्र कुमार जोशी

एडमिरल देवेन्द्र कुमार जोशी
जन्म 4 जुलाई 1954 (1954-07-04) (आयु 65)
अल्मोड़ा, उत्तराखंड
निष्ठा Flag of India.svg भारत
सेवा/शाखा भारत का नौसेना ध्वज भारतीय नौ सेना
सेवा वर्ष 01 अप्रैल 1974 से 26 फ़रवरी 2014
उपाधि एडमिरल
नेतृत्व भारत के नौसेनाध्यक्ष
सम्मान
  • परम विशिष्ट सेवा पदक
  • अति विशिष्ट सेवा पदक, ADC,
  • युद्ध सेवा पदक,
  • नौसेना पदक,
  • विशिष्ट सेवा पदक
सम्बंध चित्रा जोशी (धर्मपत्नी)

करियरसंपादित करें

ए‍डमिरल डी. के. जोशी ने 01 अप्रैल 1974 को भारतीय नौसेना के एक्‍जीक्‍यूटिव ब्रांच में कमीशन प्राप्त किया था। लगभग 38 वर्ष के अपने लंबे सेवाकाल में उन्होंने विभिन्न कमान, कर्मचारी और निर्देशात्मक पदों पर हुई नियुक्ति के दौरान अपनी सेवाएँ दीं। उन्होंने सिंगापुर में भारतीय उच्चायोग में 1996 से 1999 के दौरान रक्षा सलाहकार के रूप में भी सेवाएँ दी।[1]

अलंकरणसंपादित करें

त्यागपत्रसंपादित करें

आईएनएस सिंधुरत्न दुर्घटना व इससे पहले हुई कई सिलसिलेवार दुर्घटनाओं की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए उन्होनें २६ फ़रवरी २०१४ को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। ऐसा करने वाले वे भारत के पहले नौसेनाध्यक्ष हैं।[3][2] उनके बाद उप-प्रमुख वाइस एडमिरल रॉबिन धवन को कार्यवाहक नौसेनाध्यक्ष बनाया गया।[3]

व्यक्तिगत जीवनसंपादित करें

इनकी धर्मपत्नी का नाम चित्रा जोशी है और दो बेटियां है।[1]


सन्दर्भसंपादित करें

  1. "वाइस एडमिरल डी. के. जोशी अगले नौसेना प्रमुख होंगे". पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. 5 जून 2012. अभिगमन तिथि 2 मई 2013.
  2. "नौसेना प्रमुख एडमिरल डी.के. जोशी का इस्तीफा". पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. 26 फ़रवरी 2014. अभिगमन तिथि 27 फ़रवरी 2014.
  3. "नेवी चीफ ऐडमिरल जोशी ने इस्तीफा दिया". नवभारत टाईम्स. 26 फ़रवरी 2014. अभिगमन तिथि 27फरवरी 2014. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)