एबफ्रेकशन दांतों की गैर केरियास ऊतक में कमी है जो की मसूड़ों की मार्जिन पर पाई जाती है और इन्हें दांतों में जखम भी कहते हैं। एबफ्रेकशन दांतों में उस जगह पर पाया जाता है जहा तन्यता तनाव ज्यादा होता है। एबफ्रेकशन जखम ३ प्रकार के आकार में पाए जाते है: कील, तश्तरी और मिश्रित पैटर्न में भी पाए जाते हैं। कील और तश्तरी के आकार का जखम बहुत ही सामान्य है जबकि मिश्रित पैटर्न मुह्ह में बहुत ही मुश्किल से पहचाना जाता है। दांतों में एब्फ्रेकशन होने से दांतों की सूक्ष्म-ग्राहिता बड जाती है जिससे दांतों को नुक्सान पहुंचता है। [1]

एबफ्रेकशन

कारणसंपादित करें

एबफ्रेकशन दांतों का एक दुसरे के संपर्क में आने से बल लगने के कारण इनेमल की सतह टूटने से बडती है जिसके कारण यह जखम और भी गहरा होता रहता है।

इलाजसंपादित करें

एबफ्रेकशन का इलाज दांतों में उसकी प्रगति पर निर्भर करता है। दांतों के जख्मो पर छुरी से खरोज बनाया जाता है जिससे एबफ्रेकशन कम होती है। और जखम वाले दांतों को निकाल क्र उनकी जगह नये दांत भी लगे जाते हैं। [2]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Bartlett, D.W.; Shah, P (April 2006). "A Critical Review of Non-carious Cervical (Wear) Lesions and the Role of Abfraction, Erosion, and Abrasion". Journal of Dental Research. 85 (4): 306–312. doi:10.1177/154405910608500405
  2. Michael, JA; Townsend, GC; Greenwood, LF; Kaidonis, JA (March 2009). "Abfraction: separating fact from fiction". Australian Dental Journal. 54 (1): 2–8. doi:10.1111/j.1834-7819.2008.01080.x. ^ Jump up to: a b Grippo, John O (January–February 1991). "Abfractions: A New Classification of Hard Tissue Lesions of Teeth". JOURNAL OF ESTHETlC DENTISTRY. 3 (1): 14–19. doi:10.1111/j.1708-8240.1991.tb00799.x.