मुख्य मेनू खोलें
ऐम्फीबोल (हॉर्नब्लेंड

ऐंफ़िबोल (Amphibole) खनिजों के एक समूह का नाम है। इस वर्ग के खनिज पाइरॉक्सीन खनिजों (Pyroxene) के समानीय हैं। इनका रासायनिक संगठन तथा भौतिक गुण पाइरॉक्सीन खनिजों के समान हैं। फलस्वरूप पाइरॉक्सीन और ऐफ़िबोल खनिजों में भेद करना कठिन हो जाता है। दोनों वर्गो के प्रकाशीय गुण भिन्न-भिन्न होते हैं। इसी आधार पर अण्वीक्ष यंत्र की सहायता से उनमें भेद किया जाता है।

साधारणत: ऐंफ़िबोल खनिज लोहा, मैगनीशियम तथा कैल्सियम के सिलीकेट हैं। पर कुछ खनिजों में थोड़ा बहुत सोडा और ऐल्यूमिना भी विद्यमान रहता है। इस वर्ग का सबसे महत्वपूर्ण खनिज हार्नब्लेंड है। यह एकनत (मोनोक्लिनिक) समुदाय में स्फुटित होता है। यह बहुधा स्तंभीय (कॉलमनर) रूप में, किंतु कभी-कभी दानेदार अथवा रेशेदार रूप में भी, मिलता है। सतह काच की तरह चमकती है। रेशेदार रूप में भी, मिलता है। रेशेदार आकृति में उपलब्ध होने पर रेशे रेशम के समान दिखाई पड़ते हैं। इस खनिज में दो तड़कन तल होते हैं, जो समपार्श्व (प्रिज्म़) के कलकों के समांतर ५६ डिग्री और १२४ डिग्री के कोण पर रहते हैं। इनकी कठोरता ५ से ६ तक और आपेक्षिक घनत्व २.९ से ३.४ तक होता है।

ऐंफ़िबोल के खनिज आग्नेय और रूपांतरित (मेटामार्फ़िक) शिलाओं में पाए जाते हैं, जैसे डायोराइट, ऐंफ़ीबोलाइट, आदि शिलाओं में।

खनिज प्रजातियाँसंपादित करें

रासायनिक सूत्रसंपादित करें

ऑर्थोक्रोम्बिक श्रेणी

मोनोक्लिनिक श्रेणी

वर्णनसंपादित करें

एन्थोफिलाइट (Anthophyllite) occurs as brownish, fibrous or lamellar masses with hornblende in mica-schist at Kongsberg in Norway and some other localities. An aluminous related species is known as gedrite and a deep green Russian variety containing little iron as kupfferite.

हॉर्नब्लेण्ड (Hornblende) is an important constituent of many igneous rocks. It is also an important constituent of amphibolites formed by metamorphism of basalt.