ऑल्ट न्यूज़ एक भारतीय गैर-लाभकारी तथ्य जाँच और समाचार वेबसाईट है, जिसकी स्थापना पूर्व सॉफ्टवेयर इंजीनियर प्रतीक सिन्हा और मोहम्मद जुबैर द्वारा किया गया हैं।[3][4] इसे 9 फरवरी 2017 को फर्जी खबरों से निपटने के लिए लॉन्च किया गया था।[5][6][7] ऑल्ट न्यूज़ अप्रैल 2020 तक इंटरनेशनल फैक्ट-चेकिंग नेटवर्क का एक हस्ताक्षरकर्ता भागीदार था।[8]

ऑल्ट न्यूज़
AltNews.in logo.jpg
स्थापित9 फरवरी 2017
मुख्यालयअहमदाबाद, भारत
मालिकप्रावदा मीडिया फाउंडेशन[1]
संस्थापकप्रतीक सिन्हा, मोहम्मद जुबैर[2]
उत्पादन्यूज पोर्टल
जालस्थलwww.altnews.in

इतिहाससंपादित करें

ऑल्ट न्यूज़ की स्थापना अहमदाबाद[9] में एक पूर्व सॉफ्टवेयर इंजीनियर और मुकुल सिन्हा के पुत्र प्रतीक सिन्हा ने की थी, जो एक वकील और जन संघर्ष मंच के संस्थापक-अध्यक्ष थे।[10][11] प्रतीक सिन्हा जब भारत में अपने माता-पिता के साथ काम करने लगे तो फर्जी खबरों को उजागर करने में दिलचस्पी जाहीर की। उन्होंने 2016 में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में फ्रीलांसिंग छोड़ दी और अगले साल ऑल्ट न्यूज़ की स्थापना की।[9]

वेबसाइट लॉन्च करने के बाद से, सिन्हा को जान की कई धमकियाँ मिली, जिससे वह फैक्ट चेकिंग सामग्री प्रक्षित करना बंद कर दें। [12][13] 2022 में, मोहम्मद जुबैर को दिल्ली पुलिस ने "धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने" के आरोप में गिरफ्तार किया। 2018 के एक व्यंग्यपूर्ण ट्वीट द्वारा — 1982 में रिलीज़ हुई एक कॉमेडी फिल्म के एक दृश्य को दिखाते हुए, जिसमें हिन्दुओ की अवहेलना करने की शिकायत की गई थी।[14]

2017 में फर्जी खबरों के संभावित समाधानों पर चर्चा करने के लिए सिन्हा को गूगल न्यूज़लैब एशिया-पैसिफिक समिट में आमंत्रित किया गया था।[4]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Top 7 Platforms That Are Busting Fake News On Social Media". एनालिटिक्स इंडिया. अभिगमन तिथि 10 फरवरी 2018.
  2. जॉय, सहेमीन (6 सितंबर 2020). "FIR against Alt News co-founder Mohammed Zubair on NCPCR complaint". डेक्कन हेराल्ड.
  3. मनीष, साई (8 अप्रैल 2018). "Busting fake news: Who funds whom?". बिजनेस स्टैंडर्ड (अंग्रेजी में). अभिगमन तिथि 2020-03-03 – वाया रेडिफ़.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  4. सेनगुप्ता, सौर्य (1 जुलाई 2017). "On the origin of specious news". अभिगमन तिथि 7 नवंबर 2017 – वाया द हिन्दू.
  5. "Fake news in the time of the internet". द फाइनैन्शल एक्स्प्रेस. 28 मई 2017. अभिगमन तिथि 7 नवंबर 2017.
  6. "10 Instances That Show A Fake News Explosion Is Taking Place In India". हफपोस्ट. 26 मई 2017. अभिगमन तिथि 7 नवंबर 2017.
  7. धवन, हिमांशी (15 May 2017). "Breaking fake news". द टाइम्स ऑफ इंडिया. अभिगमन तिथि 7 नवंबर 2017.
  8. "Pravda Media Foundation Profile". International Fact-Checking Network, Poynter.
  9. "To stop misinformation, ask questions: Interview with Alt News founder Pratik Sinha". द न्यूज मिनट.
  10. सेन, श्रीजा (12 मई 2014). "Gujarat riots activist Mukul Sinha dies at 63". लाइव मिंट. अभिगमन तिथि 7 फरवरी 2018.
  11. एम, जाहीर. "Mukul Sinha, self-effacing Modi opponent and labour organiser who disliked being called a leader". स्क्रॉल.इन. अभिगमन तिथि 7 फरवरी 2018.
  12. "News website owner gets threat call from 'gangster'". द इंडियन एक्सप्रेस. 10 मार्च 2017.
  13. "Mukul Sinha's son gets threat call from 'Pujari'". द टाइम्स ऑफ इंडिया. अभिगमन तिथि 9 नवंबर 2017.
  14. "Alt News co-founder Mohammed Zubair arrested for 'hurting religious sentiments'". हिंदुस्तान टाइम्स (अंग्रेजी में). 2022-06-27. अभिगमन तिथि 2022-07-02.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)