कंकाली टीला, मथुरा में स्थित एक टीला (mound) है। इस टीले पर कंकाली देवी का मन्दिर है, इसलिये इसका नाम 'कंकाली टीला' है। १८९०-९१ में डॉ फुहरर के नेतृत्व में यहाँ खुदाई हुई जिसमें प्रसिद्ध जैन स्तूप मिला। [2] इन कलाकृतियों को तीन भागों में विभक्त किया गया।1. तीर्थंकरों की मूर्तियां 2.शासन देवताओं की मूर्तियां3.आयगपट्ट।लखनऊ संग्रहालय में स्थित एक अभिलेख के अनुसार यहां के बौद्धस्तुप में प्रतिमा की स्थापना का विवरण 157 ई. का है।

कंकाली टीला
Mathura archaeological sites.jpg
मथुरा के कंकाली टीला की स्थिति
Jain Tablet Homage Set-up by Vasu the Daughter of Courtesan Lavana Sobhika - Circa 1st Century CE - Kankali Mound - ACCN 00-Q-7 - Government Museum - Mathura 2013-02-24 5987.JPG
Ayagapatta, Jain Tablet of homage (Circa 1st Century CE) excavated from Kankali Mound (Photo:Government Museum, Mathura)
A Kankali Tila plate, with an inscription mentioning the year 42 of the reign of Northern Satraps ruler Sodasa.[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. The Jain stûpa and other antiquities of Mathurâ by Smith, Vincent Arthur Plate XIV Archived 2016-04-04 at the Wayback Machine
  2. Smith 1901, पृ॰ Introduction.