मुख्य मेनू खोलें

प्रथम संत अब्दुल अजीज मक्की को माना जाता है इनका शिष्य खिज्ररूमी कलंदर खपरादरी थे जिन्होंने चिश्तिया-कलंदरिया उपशाखा को जन्म दिया सूफ़ीवाद का एक घराना।

सन्दर्भसंपादित करें