कलापी नाम से सुप्रसिद्ध सुर सिंह तख्त सिंह गोहिल (गुजराती: :સુરસિંહજી તખ્તસિંહજી ગોહિલ) (१८७४-१९००) गुजराती भाषा के जानेमाने राजवी कवि थे। [1] कलापी का जन्म गुजरात प्रान्त में अमरेली जिले के लाठी शहर में हुआ था। कलापी लाठी के राजा थे। गुजराती साहित्य में कलापी का योगदान महत्वपूर्ण है।

कलापी

सुर सिंह तख्त सिंह गोहिल कलापी
व्यवसाय लाठी के राजवी कवि
राष्ट्रीयता भारतीय
लेखन काल १८७४-१९००
उल्लेखनीय कार्य कलापी नो केकारव, कलापी नो काव्यकलाप, हमीरजी गोहिल (दीर्घकाव्य), काश्मीर नो प्रवास, स्वीडनबर्ग नो धर्म विचार (सभी गुजराती में)
उल्लेखनीय सम्मान mahachuyiya Bhosvibhushan Loda
हस्ताक्षर Kalapi autograph.svg

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 4 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 नवंबर 2015.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें