क़सूर

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में शहर।

कसूर या क़सूर (उर्दू: قصُور), (पंजाबी: ਕਸੂਰ), पाकिस्तान में भारतीय सीमा से सटे कसूर जिले का मुख्यालय नगर है। इसके उत्तर में लाहौर, दक्षिण एवं पूर्व में भारतीय अन्तर्राष्ट्रीय सीमा है। इस सीमा का नाम गंडा सिंह वाला है, जहां वाघा सीमा की ही भांति ध्वजारोहण एवं ध्वज उतारने की परंपरा संपन्न की जाती है, किन्तु वहां की भांति इतने बड़े स्तर पर नहीं होती है। कसूर सूफ़ी कवि फ़कीर बाबा बुल्ले शाह की मजार होने के कारण भी मशहूर है। इस जिले का सबसे बड़ा शहर कस्बा है रफ़ीक विलास।

قصُور
कस्बा
कसूर
पीर बुल्लेशाह बाबा की मज़ार, मध्य कसूर शहर में
पीर बुल्लेशाह बाबा की मज़ार, मध्य कसूर शहर में
Pakistan - Punjab - Kasur.svg
राष्ट्रपाकिस्तान
प्रांतपंजाब
जिलाकसूर जिला
क्षेत्रफल
 • कुल3995 किमी2 (1,542 वर्गमील)
ऊँचाई218 मी (715 फीट)
जनसंख्या (2007)
 • कुल2,88,181
 • घनत्व595 किमी2 (1,540 वर्गमील)
समय मण्डलPST (यूटीसी+5)
दूरभाष कूट049
वेबसाइटआधिकारिक जालस्थल

शहर का नाम हिन्दू भगवान राम के दूसरे पुत्र कुश के नाम पर कुशपुर था, जो कालांतर में बिगड़ कर कसूर हो गया।[1][2]


संदर्भ
संपादित करें

  1. "वेल्कम टू कसूर (परिचय)". कसूर, पाकिस्तान: तहसील नगरमहापालिका, कसूर. मूल से 18 जुलाई 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ३ सितंबर २०१३.
  2. "What happened to Luv and Kush after ram and sita?". india-forum.com. मूल से 9 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ०३ सितंबर २०१३. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)