कादी

इस्लामी धार्मिक कानून के अनुसार न्यायाधीश का फैसला

कादी: (अरबी: قاضي; कादी या क़ाज़ी) शरिया अदालत का मजिस्ट्रेट या न्यायाधीश होता है, जो अत्याचार और अल्पसंख्यकों के मामलों मेंं मध्यस्थता, अभिभावक, और सार्वजनिक कार्यों की पर्यवेक्षण और लेखा परीक्षा जैसे असाधारण कार्यों का भी उपयोग करता है।[1] "कादी" शब्द एक क्रिया से आता है जिसका अर्थ है "न्यायाधीश" या "निर्णय" करना।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. B. Hallaq, Wael (2009). An Introduction to Islamic law. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस. पपृ॰ 175–6. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780521678735.