मुख्य मेनू खोलें

72 ई० पू० में शुंग वंश के अंतिम शासक देवभूति की हत्या कर उसके महामंत्री वसुदेव ने एक नवीन राजवंश की स्थापना की जिसे कानव(कण्व) राजवंश कहते है। कण्व वंश में चार शासक वसुमित्र,भूमिमित्र,नारायण एवं सुशर्मा हुए। इन शासको ने कुल मिलाकर 45 वर्ष तक शासन किया। कण्व वंश भी शुंगो की भांति ब्राह्मण वंश था।