कायिक कोशिका संगलन

कायिक कोशिका संगलन कायिक कोशिकाओं के संगलन से संकर कोशिकाएं प्राप्त होतीं हैं। सामान्य मानव रेशा कोशिकाओं या श्वेत रक्त कोशिकाओं को मूषक सतत कोशिका लाइनों से संगलित करते हैं। कोशिका संगलन के लिये, पराबैंगनी किरणित सैंडेई विषाणु या पॉलीइथाइलीन ग्लाइकॉल का प्रयोग करते हैं। संकर कोशिका में आरंभ में दो केन्द्रक रहते हैं, जो बाद में संगलित हो जाते हैं। इस प्रकार से संकर कोशिकाओं का उत्पादन कायिक कोशिका संकरण कहलाता है।