कारण और प्रभाव के बीच सम्बन्ध कारणता (Causality) कहलाती है। सभी प्राकृतिक विज्ञानों में कारणता को मूलभूत तत्व समझा जाता है, विशेषतः भौतिकी में। विशेषकर भौतिकी। भौतिकी के दृष्टिकोण से, किसी प्रभाव और घटना के बीच कारणता नहिं हो सकती यदि वह घटना उस प्रभाव के पृष्ट प्रकाश शंकु (भूत प्रकाश शंकु) में न हो। इसी तरह, किसी घटना या कारण का प्रभाव उस घटना के पार्श्व प्रकाश शंकु (भविष्य प्रकाश शंकु) के बाहर नहीं हो सकता।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें