जिन प्रकाश उत्सर्जक डायोडों के उत्सर्जक विद्युतसंदीप्त स्तर, कार्बनिक यौगिक की एक फिल्म के बने होते हैं उन्हें कार्बनिक प्रकाश उत्सर्जक डायोड (organic light-emitting diode (OLED/ओलेड)) कहते हैं। यह स्तर कार्बनिक अर्धचालक पदार्थ की बनी होती है और एलईडी के दोनों इलेक्ट्रोडों के बीच स्थित होती है। ओलेड का प्रयोग टेलीविजन स्क्रीन, कम्प्यूटर मॉनिटर, मोबाइल फोन आदि में होता है। सम्प्रति, सफेद ओलेड के विकास की दिशा में बहुत अनुसंधान हो रहा है। इसका उपयोग प्रकाश उत्पादन (जैसे एलईडी बल्ब) में होता है।