कार्बी भाषा (असमिया: কাৰ্বি, अंग्रेज़ी: Karbi), जो मिकिर भाषा और आरलेंग भाषा भी कहलाया करती थी, पूर्वोत्तर भारत में असम, मेघालयअरुणाचल प्रदेश राज्यों में कार्बी समुदाय द्वारा बोली जाने वाली एक भाषा है। यह तिब्बती-बर्मी भाषा-परिवार की सदस्या है लेकिन इस विशाल परिवार के अंदर इसका आगे का वर्गीकरण अस्पष्ट है। इसे अधिकतर असमिया लिपि में लिखा जाता है, हालांकि कुछ हद तक रोमन लिपि भी प्रयोगित है। इसकी एक प्रमुख उपभाषा है, आम्री, जो साधारण कार्बी बोली से काफ़ी अलग है और कभी-कभी एक भिन्न भाषा भी मानी जाती है।[1]

कार्बी
मिकिर
बोलने का  स्थान  भारत
तिथि / काल २००१ जनगणना
क्षेत्र असम, मेघालयअरुणाचल प्रदेश
समुदाय कार्बी लोग
मातृभाषी वक्ता ४,२०,०००
भाषा परिवार
भाषा कोड
आइएसओ 639-3 mjw

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Nordhoff, Sebastian; Hammarström, Harald; Forkel, Robert; Haspelmath, Martin, eds. (2013). "Karbi Archived 2016-03-19 at the Wayback Machine". Glottolog. Leipzig: Max Planck Institute for Evolutionary Anthropology.