संगणक की भाषा में कुंजीपटल (की-बोर्ड) एक इनपुट युक्ति है जो की टाइपराइटर के कुंजीपटल में कुछ आवश्यक परिवर्तन करके बनायी गयी है। कुंजीपटल में बहुत से (सैकड़ों) कुंजियाँ या बटन होते हैं जो किसी विशेष तरीके से विन्यस्त (arranged) होते हैं। ये बटन इलेक्ट्रानिक स्विच का काम करते हैं और दबाने पर कम्प्यूटर को एक विशेष डिजिटल संकेत (बाइट) प्रेषित करते हैं जो कि दबायी गयी कुंजी की पहचान होती है। कूजियाँ यांत्रिक हो सकते हैं या इलेक्ट्रानिक। कुंजियों के उपर एक या अधिक संकेत/अक्षर लिखे रहते हैं।

कम्प्यूटर का एक कुंजीपटल
३-पंक्ति तथा ४-स्तम्भ के उपयोग से एक १०-कुंजी वाले बोर्ड की स्कैनिंग
खुला हुआ Cherry MX कुंजी

हिन्दी भाषा के लिये दो कीबोर्ड होते हैं - इनस्क्रिप्ट जो कि सभी भारतीय भाषाओं का मानक कीबोर्ड है तथा रेमिंगटन जो कि पुराने जमाने के टाइपराइटर पर प्रयोग होता था।

कुंजीपटल का इतिहाससंपादित करें

टाइपराइटर को कुंजीपटल के पूर्वज के रूप में जाना जाता है. क्योंकि कीबोर्ड की बनावट लगभग टाइपराइटर जैसे है. कीबोर्ड का आविष्कार सन 1868 को क्रिस्टोफर लाथम शोल्स ने किया था, वह एक अमरीकी आविष्कार थे.

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें