कृपी महर्षि शरद्वान की पुत्री थी और कृपाचार्य की बहन थी। इनकी माता जानपदी नाम की एक देवकन्या थी। इनका विवाह द्रोणाचार्य से हुआ था। इनके पुत्र का नाम अश्वत्थामा था।[1][2]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "महाभारत की 7 रहस्यमयी जन्म कथा | Mysterious birth story of Mahabharata". hindi.webdunia.com. अभिगमन तिथि 7 जुलाई 2021.
  2. Bhatnagar, Dr Rajendra Mohan (1989). "Mahabharat". Pitambar Publishing Company Pvt. Limited. अभिगमन तिथि 7 जुलाई 2021.