के॰ जी॰ सुब्रमण्यम

भारतीय कलाकार

के॰ जी॰ सुब्रमण्यम(15 फरवरी 1924- 29 जून 2016), एक भारतीय मूर्तिकार और भित्ति चित्रकार थे। वे भारतीय आधुनिक कला के प्रणेताओं में शामिल रहे हैं। उन्होंने भित्ति चित्र टेराकोटा और कई तरह के खिलौने भी बनाए। उन्होंने सत्तर के दशक में कई तरह के नए प्रयोग शुरू किये जिसमें कांच के पत्रक पर रिवर्स चित्रकला प्रमुख रूप से शामिल थे। उन्होंने बच्चों के लिए कई किताबें भी लिखीं। उन्हें वर्ष 2012 में पद्म विभूषण, 2006 में पद्मभूषण तथा 1975 में पद्मश्री से सम्मानित किया। 29 जून 2016 में उनका बड़ोदरा, गुजरात में निधन हो गया। [3]

के॰ जी॰ सुब्रमण्यम
जन्म 05 फ़रवरी 1924 [1]
कुथुपरम्बा, केरल, भारत
मृत्यु 29 जून 2016(2016-06-29) (उम्र 92)[2]
वडोदरा, गुजरात, भारत
शिक्षा विश्व-भारती विश्वविद्यालय
शिक्षा प्राप्त की विश्व-भारती विश्वविद्यालय
व्यवसाय चित्रकार, मूर्तिकार, प्रिंटमेकर, लेखक और शिक्षाविद
पुरस्कार पद्म श्री, कालिदास सम्मान, पद्म भूषण, पद्म विभूषण

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 18 अगस्त 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 जुलाई 2016.
  2. "Modern art pioneer KG Subramanyan, 92, passes away in Vadodara on 29 June" [आधुनिक कला के अग्रणी चित्रकार केजी सुब्रमण्यन का 92 वर्ष की आयु में 29 जून को वडोदरा में निधन]. फर्स्ट पोस्ट. 29 जून 2016. मूल से 3 जुलाई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 जुलाई 2016.
  3. "Padma Awards" [पद्म सम्मान]. पीआईबी. 27 जनवरी 2013. मूल से 24 मई 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 08 जुलाई 2016. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)