कैम्प डेविड समझौता (१७ सितम्बर १९७८) इजराइल के प्रधानमंत्री मेनचेम तथा मिस्र के राष्ट्रपति अनवर सदात द्वारा हस्ताक्षरित एक समझौता है जिस पर १७ सितम्बर १९७८ को हस्ताक्षर हुए थे। १७ दिन तक कैम्प डेविड में चली गुप्त बातचीत के बाद यह समझौता हुआ था। इस समझौते पर ह्वाइट हाउस में हस्ताक्षर हुए थे और जिमी कार्टर इसके साक्षी थे। इस समझौते के दो फ्रेमवर्क थे।

कैम्प डेविड में अनवर सादात, जिमी कार्टर और मेनाचेम बेगिन (बाएँ से दाएँ)

इसी समझौते दूसरे फ्रेमवर्क (A Framework for the Conclusion of a Peace Treaty between Egypt and Israel) के आधार पर १९७९ में मिस्र-इजराइल शांति संधि हुई जिसके लिये सादात और बेगिन को १९७८ का शान्ति का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया। इस समझौते के प्रथम फ्रेमवर्क (A Framework for Peace in the Middle East) का सम्बन्धफीलिस्तीनी क्षेत्रों से था और यह फिलिस्तीन के किसी भी प्रतिनिधि की अनुपस्थिति में ही लिखा गया था। इस फ्रेमवर्क का कोई प्रभाव नहीं पड़ा और संयुक्त राष्ट्रसंघ ने इसकी भर्त्सना भी की।

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें