मुख्य मेनू खोलें

जब कोई कण एक वृत्ताकार मार्ग पर गति करता है तो किसी समय कण का त्रिज्य सदिश कण की प्रारंम्भिक स्थिति के सापेच्छ जितना कोण घूमता है उसे कण का कोणीय विस्थापन कहते है | इसे भौतिकी घूर्णन यांत्रिकी में


                 Thita = ∆s/r
          
            से प्रदर्शित करते है|