प्राकृतिक या कृत्रिम विधि से ठोस क्रिस्टल बनने/बनाने की क्रिया को क्रिस्टलन या क्रिस्टलीकरण (Crystallization) कहते हैं। क्रिस्टलन के लिये विलयन या गलित (मेल्ट) का प्रयोग किया जाता है या कभी-कभी (बहुत कम) सीधे गैस से ही क्रिस्टल जमा लिये जाते हैं। क्रिस्टलन एक रासायनिक ठोस-द्रव विलगीकरण तकनीक है जिसमें विलेय, द्रव विलयन से स्थानान्तरित होकर शुद्ध ठोस पर चला जाता है। रासायनिक इंजीनियरी में क्रिस्टलन के लिये क्रिस्टलकारी (crystallizer) का प्रयोग किया जाता है।

हिम का क्रिस्टलन