खनिज विज्ञान में क्रिस्टल स्वभाव (crystal habit) किसी खनिज के एक विषेश आकार से ही बनने या बढ़ने के लक्षण को कहते हैं। मसलन ऐस्बेस्टस बनाने वाले खनिज महीन रेशों के गुच्छे बनाने का स्वभाव रखते हैं जबकि हीरे में कार्बन आठ-मुखीय क्रिस्टल बनाने का स्वभाव रखता है।[1]

बिस्सोलाइट और ऐस्बेस्टस रेशे बनाने का क्रिस्टल स्वभाव रखते हैं

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Klein, Cornelis, 2007, Minerals and Rocks: Exercises in Crystal and Mineral Chemistry, Crystallography, X-ray Powder Diffraction, Mineral and Rock Identification, and Ore Mineralogy, Wiley, third edition, ISBN 978-0471772774