क्वार्क-ग्लूऑन प्लाज्मा' (अंग्रेज़ी: Quark–gluon plasma) जिसे क्वार्क सूप या ग्लाज्मा[1] भी कहते हैं, भौतिकी के मानक प्रारूप के अंतर्गत पदार्थ की पाँचवीं अवस्था है। इस पदार्थ में कण का अवशेष भी नहीं है। यदि प्रोटॉन को अति उच्च तापमान अथवा अति उच्च घनत्व प्रदान किया जाय तो एक ऐसी प्रावस्था की प्राप्ति होती है जिसमें मु्ख्यतः क्वार्क और ग्लूऑन मिलते हैं। माना जा रहा है कि बिग बैंग के तुरंत बाद ही ऐसे पदार्थों का बनना शुरु हो गया।[2]

क्यूसीडी चरण आरेख। आरएस भालेराव द्वारा बनाया गया

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Bohr, Henrik; Nielsen, H. B. (1977). "Hadron production from a boiling quark soup: quark model predicting particle ratios in hadronic collisions". Nuclear Physics B. 128 (2): 275. डीओआइ:10.1016/0550-3213(77)90032-3. बिबकोड:1977NuPhB.128..275B.
  2. "Primordial 'Soup' of Big Bang Recreated". मूल से 3 अक्तूबर 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 सितंबर 2012.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

By colliding particles, physicists hope to recreate the earliest moments of our universe, on a much smaller scale]