खेमकरन का युद्ध भारत पाक युद्ध १९६५ का भाग था। दूसरे विश्व युद्ध के बाद ये सबसे बड़ा टैंक युद्ध था। युद्ध में दोनों तरफ ४०० टैंकों के करीब थे। इस युद्ध में पाकिस्तानी सेना को बहुत भारी हानि उठानी पड़ी थी। उसके पैटन टैंक जिन पर उसे बहुत भरोसा था बुरी तरह नाकामयाब रहे। खेमकरन को पैटन टैंकों का कब्रिस्तान कहा गया है। युद्ध में पराजय के साथ ही तय हो गया था कि पाक भारत को युद्ध में हरा के कश्मीर नहीं ले सकता।[1]

खेमकरन का युद्ध
१९६५ का भारत-पाक युद्
खेमकरन की पंजाब के मानचित्र पर अवस्थिति
खेमकरन
खेमकरन (पंजाब)
का भाग
स्थान खेमकरन, पंजाब, भारत
परिणाम भारतीय जीत[1]
योद्धा
Flag of India.svg भारत Flag of Pakistan.svg पाकिस्तान

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

उस युध्ह के बाद भारत और पाकिस्तान के मध्य रुस के तास्कन्द मै समझोता हुआ

  1. Rakshak, Bharat. "Page 15" (PDF). Official History. Times of India. मूल (PDF) से 9 June 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 July 2011.