मुख्य मेनू खोलें

गिरीश पंकज हिन्दी के एक व्यंग्यकार हैं। इनके दस व्यंग्य संग्रह, पाँच उपन्यास समेत विभिन्न विधाओं में चालीस पुस्तकें प्रकाशित हैं। इन्हें व्यंग्य लेखन के लिए "अट्टहास सम्मान", "श्री लाल शुक्ल व्यंग्य सम्मान", "लीलारनी सम्मान" समेत अनेक सम्मान, पुरस्कार प्राप्त हुये हैं।[1]

सन्दर्भसंपादित करें