मुख्य मेनू खोलें

गैम्बलर (1995 फ़िल्म)

1995 की दयाल निहलानी की फ़िल्म

गैम्बलर 1995 में जारी हुई हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसमें गोविन्दा और शिल्पा शेट्टी प्रमुख चरित्रों का निर्वाहन करते हैं।

गैम्बलर
गैम्बलर.jpg
गैम्बलर का पोस्टर
निर्देशक दयाल निहलानी
निर्माता धीरजलाल शाह
लेखक अनवर ख़ान (संवाद)
पटकथा दयाल निहलानी
कहानी दयाल निहलानी
अभिनेता गोविन्दा,
शिल्पा शेट्टी,
आदित्य पंचोली,
गुलशन ग्रोवर,
मोहन जोशी
संगीतकार अनु मलिक
प्रदर्शन तिथि(याँ) 8 दिसंबर, 1995
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

दयाशंकर पांडे (गोविन्दा) एक आलसी पुलिस इंस्पेक्टर है, जो अपनी जान को खतरे में डालने से बहुत डरता है। उसे कहानियाँ सुनाना और बैठ कर काम करना पसंद है। पर किस्मत ने उसके जीवन में कुछ और लिखा होता है। एक बार उनका चिकित्सा जांच होता है, जिसमें उसका दोस्त शराब के नशे में होने के कारण अपना खून, दयाशंकर के खून से बदल देता है। दयाशंकर को रिपोर्ट में पता चलता है कि वो बस कुछ दिनों का मेहमान है, अब उसके पास ज्यादा समय नहीं है।

इस खबर से वो अपने परिवार वालों की फिक्र करने लगता है और उनके लिए अपना जीवन बीमा करा लेता है, और गुंडों से लड़ने लगता है। वो कई तस्करों और तस्करी के सामान को पकड़ लेता है, जिससे वो कई सारे अपराधियों का दुश्मन बन जाता है। बाद में उसे पता चलता है कि वो नहीं, बल्कि उसके दोस्त को जानलेवा बीमारी है। इसके बाद उसके पास अपराधियों से लड़ने के अलावा कोई चारा नहीं बचता है।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी अनु मलिक द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."हम उनसे मोहब्बत करके"नवाब आरज़ूकुमार सानु, साधना सरगम8:50
2."मेरी मर्जी मैं चाहे"विनय देवदेवंग पटेल7:41
3."स्टॉप दैट"विनय देवदेवंग पटेल5:40
4."गैम्बलर गैम्बलर"एम॰ जी॰ हाशमतविनोद राठोड़, साधना सरगम6:19
5."सजदे न किये मैंने"इब्राहीम अश्कविनोद राठोड़, साधना सरगम7:12
6."दीवानगी तू मेरी पहचान"फैज़ अनवरअलका याज्ञिक, विनोद राठोड़7:03
7."अकेली मैं आई"अनवर सागरअलीशा चिनॉय7:12
8."यार डाकिये मेरा कबूतर"देव कोहलीकुमार सानु, अलका याज्ञिक8:11
9."चुपके चुपके घूर ना मुझको"देव कोहलीविनोद राठोड़, उदित नारायण, अनु मलिक6:08

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें