ग्रामीण जनजीवन में प्रकृति की पूजा, जिसमें ग्राम देवी अथवा ग्राम देवताओं की पूजा पद्धति का प्रचलन है।

राजस्थान के उदयपुर जिले के एक गाँव में घोड़े की पूजा का स्थल

भारत के गाँवों में ऐसा पाया गया है ग्राम देवता स्त्रियाँ होती हैं, जैसे सती माई, काली माई ,दुर्गा माई ,चंडीमाई , शीतला माई आदि; मगर कहीं कहीं पुरुष देवता भी होते हैं जैसे भैरो बाबा , बजरंग बली , ब्रम्हा शंकर और नंदी[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "ग्राम देवता". मूल से 21 सितंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 21 सितंबर 2018.

इन्हें भी देखेंसंपादित करें