ग्रेटर कश्मीर एक अंग्रेजी दैनिक समाचार पत्र है, जो श्रीनगर से मुद्रित और प्रकाशित होती है।[1] इस समाचार पत्र ने सन 1987 में एक साप्ताहिक समाचार पत्र के रूप में अपना संस्करण शुरू किया और बाद में 1989 में अपना पहला दैनिक प्रकाशन शुरू किया।[2]

ग्रेटर कश्मीर
प्रकार दैनिक समाचारपत्र
प्रारूप प्रिन्ट
स्वामित्व जीके कम्युनिकेशंस प्राइवेट लिमिटेड
प्रकाशक जीके कम्युनिकेशंस प्राइवेट लिमिटेड
प्रधानसंपादक फ़याज़ अहमद कालू
संस्थापना 1987
राजनैतिक दृष्टिकोण स्वतंत्र
भाषा अंग्रेजी
मुख्यालय श्रीनगर
वितरण 1,000,000+ प्रति दिन (लगभग)
भगिनी समाचारपत्र नवा-ए-झेलम,कश्मीर उज़मा
ओसीएलसी 143593517
जालपृष्ठ greaterkashmir.com

यह अखबार जम्मू और कश्मीर में प्रसार का सबसे बड़ा आधार है और यह राज्य में सबसे अधिक पढ़ा जाने वाला अंग्रेजी दैनिक समाचार पत्र है।[3] ग्रेटर कश्मीर ग्रुप (जीके कम्युनिकेशंस प्राइवेट लिमिटेड) उर्दू भाषा में अपनी सहयोगी परियोजनाओं को भी प्रकाशित करता है, जिसमे नवा-ए-झेलम[4] और कश्मीर उज़मा शामिल है। यह कश्मीर इंक नाम से एक अंग्रेजी भाषा की साप्ताहिक पत्रिका भी निकलता हैं।[5][6]

2018 तक श्रीनगर और जम्मू में ग्रेटर कश्मीर 3 रुपये की कीमत पर बिकता था। बाद मे इसका मूल्य 5 प्रति कर दिया गया। इसके प्रधान संपादक फ़याज़ अहमद कालू हैं।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Greater Kashmir Epaper". www.epapers-hub.com. अभिगमन तिथि 19 July 2013.
  2. Showkat, Nayeem (September 2017). "Kashmir in Media: An Overview". International Journal of Advanced Research and Development. 2: 741–750.
  3. मीर, हिलाल (3 मार्च 2019). "As fear of war grips Kashmir, its largest English daily will no longer get state ads". Scroll.in. अभिगमन तिथि 30 March 2020.
  4. पांडे, मनीष (11 अक्टूबर 2011). "Home ministry cracks whip on Kashmiri newspapers over 'anti-India' news". इण्डिया टुडे. अभिगमन तिथि 2019-01-06.
  5. साह, अभिषेक (9 जुलाई 2017). "Burhan effect: Facebook blocks page of Kashmir magazine, deletes cover of issue". हिंदुस्तान टाइम्स. अभिगमन तिथि 30 मार्च 2020.
  6. "J&K Govt 'Informally' Stops Ads To Leading Urdu Daily In Kashmir". आउटलुक (जालस्थल). 4 अप्रैल 2019. अभिगमन तिथि 30 March 2020.