आली गाँव से 2000 मीटर खड़ी चड़ाई पर शिव का मंदिर है, जिसे यहाँ के क्षेत्र वासी घण्डियालधार मंदिर के नाम से जानते है, यह मंदिर चमोली के सबसे ऊँचे मंदिर मैं से एक है, यह मंदिर बहुत दूर-दूर से दिखाई देता है, इस मंदिर से चारो तरफ का दृश्या और आस पास के गाँव भी दिखाई देता है, इस मंदिर से ये हिमशिखर नन्दा देवी पर्वत (७८१८), गोरी पर्वत (६२५०), हाथी पर्वत (६७२७), नंदा धुंटी (६३०९),]] पर्वत भी दिखाई देते हैं, उत्तराखण्ड राज्य के अन्तर्गत गढ़वाल मण्डल के चमोली जिले का बहुत सुन्दर और प्राकृतिक सौन्दर्य से भरा हुआ एक गाँव है।

सन्दर्भसंपादित करें